Posts Tagged ‘Yogesh Goner-Jabalpur-Madhyapradesh’

पौधा रोपकर जन्मदिन का उत्सव

फ़रवरी 6, 2010

सुबह के ठीक 10 बजे… जबलपुर में जन्मदिन का अनोखा उत्सव। इस मौके पर न तो केक काटा जाता है, ना ही पार्टी दी जाती है। लोग पौधा रोपकर जन्मदिन मनाते हैं। यह उत्सव एक… दो… तीन… नहीं, लगातार 2011 दिन (छह साल) से चल रहा है। कदम संस्था के योगेश गनोरे ने इस क्रम को उस वक्त भी रुकने नहीं दिया, जब उनका एकमात्र बेटा अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा था। कारवां चलता गया और लोग जुड़ते गए। अब यह अभियान जबलपुर से बाहर निकलकर गाडरवारा, दमोह, टीकमगढ़, कटनी, भोपाल और बड़वानी तक पहुंच गया है। कदम संस्था के सदस्य कनाडा, डेट्रायट अमेरिका और रूस में भी पौधा लगाकर अपना जन्मदिन मना रहे हैं। उनकी हसरत इस अभियान को पूरी दुनिया में पहुंचाने की है।

पौधा रोपकर जन्मदिन मनाने को प्रथा बनाने के मकसद से यह अभियान 17 जुलाई, 2004 से जबलपुर में शुरू किया गया। शुरुआती दौर में लोगों को विश्वास ही नहीं होता था कि यह काम निरंतर चलता रहेगा। पहले हफ्ते, फिर महीने, उसके बाद साल और अब छठवें साल में प्रवेश कर चुके इस अभियान में कई जानी-मानी हस्तियां भी पौधारोपण कर जन्मदिन मना चुकी हैं। इनमें गायत्री परिवार के मुखिया डॉ. प्रणव पंडया, समाजसेविका मेधा पाटकर, विधानसभा अध्यक्ष ईश्वरदास रोहाणी, पूर्व महापौर विश्वनाथ दुबे शामिल हैं। अभी तक सैकड़ों लोग पौधा रोपकर अपनी सालगिरह मना चुके हैं। इस अभियान को समय प्रबंधन की भी मिसाल माना जाता है। सुबह 10 बजे शुरू होने वाला अभियान 10:15 बजे समाप्त हो जाता है।

योगेश गनोरे के मन में जन्मदिन पर पौधा लगाने की कल्पना 25 वर्ष पहले आई। इस कल्पना को मूर्तरूप देने के लिए उन्होंने अपने परिचितों और मित्रों को जन्मदिन पर पौधा लगाने के लिए पोस्टकार्ड लिखना शुरू किया। उनका जन्मदिन 17 मई को आता है। गर्मी में पौधा लगाना और उसे बचाना सबसे बड़ी चुनौती होती थी। उन्हें जब इस काम में सफलता मिलने लगी तो उनके मन में ख्याल आया कि यह रोज क्यों नहीं हो सकता। जबलपुर के तत्कालीन महापौर विश्वनाथ दुबे को यह ख्याल इतना पसंद आया कि वह पौधों की सुरक्षा के लिए ट्री गार्ड देने के लिए राजी हो गए। उसके बाद सिलसिला चल पड़ा।

दुनिया में ऐसा कहीं नहीं हुआ कि किसी पौधे की सुरक्षा गोल्डन ट्री के जरिए की जा रही हो। कदम संस्था के अभियान का 1000वां पौधा 12 अप्रेल, 2006 को जबलपुर के भंवरताल गार्डन में रोपा गया, जिसकी सुरक्षा के लिए गोल्डन ट्री लगाया गया।
योगेश गनोरे का सपना दुनिया को युद्ध से मुक्त करने का है। इस सपने को पूरा करने के लिए वह इजरायल और फिलीस्तीन के बीच गाजापट्टी पर प्लांट फॉर पीस लगाना चाहते हैं। इस अभियान में दुनियाभर के राजनायकों को बुलाने की योजना है। उनका कहना है कि जिस दिन वह इसमें कामयाब होंगे, उनकी जिंदगी का वह सबसे खुशनुमा लम्हा होगा।